Akshay Kumar कभी चांदनी चौक की गलियों में बेचा करते समोसे, आज कर रहे Bollywood पर राज, जानें कितनी हैं प्रॉपर्टी

akshay_kumar_birthday_.webp

courtesy google

बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार आज 54 साल के हो गए हैं। 8 सितंबर को मां का निधन होने के चलते वो आज अपना बर्थडे सेलिब्रेट नहीं कर रहे। अक्षय कुमार सबसे ज्यादा फिल्में करने के लिए जाने जाते हैं। अक्षय न सिर्फ बेहतरीन एक्टर हैं, बल्कि फिल्म निर्माता, मार्शल आर्टिस्ट, टेलीविजन पर्सनेलिटी भी हैं। उन्हें पद्मश्री अवार्ड, नेशनल अवॉर्ड, फिल्म फेयर अवॉर्ड जैसे पुरस्कारों से नवाजा जा चुका हैं। एक वो वक्त था जब अक्षय कुमाक दिल्ली के चांदनी चौक में रहते थे और आम जिंदगी जीते थे। इन चांदनी चौक की तंग और टेढ़ी-मेढ़ी गलियों से निकलकर उन्होंने बॉलीवुड में राज किया।

 
 
 

अक्षय कुमार दिल्ली के रहने वाले हैं। एक मिडिल क्लास में उनका जन्म हुआ। अक्षय कुमार के पिता इंडियन आर्मी में थे। एक्टर के पिता का नाम हरिओम भाटिया था। उनकी मां हाउसवाइफ थीं। अक्षय के पैरेंट्स चाहते थे कि वह भी एक अच्छी नौकरी करके लाइफ में सेट हो जाएं, लेकिन अक्षय 12वीं क्लास में फेल हो गए। बताया जाता हैं कि 12वीं में फेल होने के बाद उनके पिता ने उन्हें एक समोसे की दुकान पर काम करने को कहा था। उन्होंने वहां सिर्फ एक दिन काम किया। अगले ही दिन उन्होंने अपने पिता से फर्स्ट डिवीजन से पास होने का वादा किया और वो वादा पूरा कर दिखाया।

 
 
 

एक इंटरव्यू में अक्षय ने बताया कि उनका पढ़ाई में दिल नहीं लगता था, उन्हें पढ़ना अच्छा नहीं लगता था इसलिए उन्होंने बस 12वीं तक पढ़ाई की और फिर मार्शल आर्ट सीखने बैंकॉक चले गए वहां उन्होंने कुक का काम किया। अक्षय ने बताया कि उस दौर में उनका कोई एक मकसद नहीं था वो सिर्फ सर्वाइव कर रहे थे। इसके लिए उन्होंने कोलकाता में ट्रेवल एजेंसी में काम किया, मोहम्मद अली रोड पर कुंदन के गहने भी बेचे हैं। ये सब काम करते-करते उन्हें एक फोटोशूट का मौका मिला और यहां से अक्षय की फिल्मी करियर की लाइन खुल गई।

 
 

अक्षय कुमार की पहली फिल्म 1991 में रिलीज हुई 'सौगंध' थी, फिल्म कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाई। लेकिन अक्षय ने हार नहीं मानी और एक से बढ़कर एक फिल्में दी। जिसमें धड़कन, अंदाज, नमस्ते लंदन, वक्त, पटियाला हाउस, हेराफेरी, मुझसे शादी करोगी, भूलभूलैया, सिंह इज किंग,अजनबी, गरम मसाला, राउडी राठौर, हॉलिडे, रुस्तम, टॉयलेटः एक प्रेमकथा, पैडमैन, केसरी जैसी फिल्में शामिल हैं।