Follow Us:

बराक ओबामाः रामायण, महाभारत सुनते हुए गुजरा बचपन

बराक ओबामा ने अपनी कितााब ‘ए प्रॉमिस्ड लैंड’ (A Promised Land) में कहा है कि उन्होंने अपना बचपन इंडोनेशिया में हिंदू धर्म के पौराणिक महाकाव्यों-रामायण और महाभारत को सुनते हुए बिताया है। इसलिए उनके दिल में हिंदुस्तान के लिए हमेशा एक खास जगह रही है।

आईएन ब्यूरो अपडेटेड November 17, 2020 16:52 IST
Barack Obama
बराक ओबामा का बचपन रामायण, महाभारत सुनते हुए गुजरा

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपनी नई कितााब ‘ए प्रॉमिस्ड लैंड’ (A Promised Land) में कहा है कि  उनके दिल में हिंदुस्तान के लिए हमेशा एक खास जगह रही है। क्योंकि उन्होंने अपना बचपन इंडोनेशिया में हिंदू धर्म के पौराणिक महाकाव्यों-रामायण और महाभारत को सुनते हुए बिताया है।

ओबामा ने अपनी किताब ए प्रॉमिस्ड लैंड में लिखा है कि भारत के प्रति उनके आकर्षण का एक बड़ा कारण इसकी विशाल जनसंख्या भी हो सकती है, जो कि दुनिया की कुल आबादी का छठा हिस्सा है। जहां एक अनुमान के अनुसार करीब दो हजार जातीय समूह हैं और सात हजार से ज्यादा भाषाएं बोली जाती हैं।

ओबामा ने अपनी किताब में साफ कहा है कि राष्ट्रपति बनने से पहले वह कभी भी भारत नहीं गए थे। लेकिन इस देश ने उनकी कल्पनाओं में हमेशा ही एक विशेष जगह कायम रखी थी। “हो सकता है कि इसका कारण इंडोनेशिया में बिताया गया मेरा बचपन रहा है। जहां मैं रामायण और महाभारत जैसे हिंदू महाकाव्यों को सुनते हुए बड़ा हुआ या यह पूरब के धर्मों में मेरी रुचि रहने के कारण हो सकता है।”

ओबामा ने ‘ए प्रॉमिस्ड लैंड’ में कहा कि “यह कालेज में मेरे भारत और पाकिस्तान के दोस्तों के एक समूह का भी असर हो सकता है। जिन्होंने मुझे दाल और कीमा जैसे व्यंजन बनाने सिखाए और बॉलीवुड की फिल्मों की ओर आकर्षित किया।”

ओबामा ने अपनी किताब ‘ए प्रॉमिस्ड लैंड’ में 2008 के अपने चुनाव अभियान से लेकर अपने प्रथम कार्यकाल तक का ब्यौरा दिया है। जिसमें पाकिस्तान के एबटाबाद में अमेरिकी सेना की कार्रवाई में ओसामा बिन लादेन को मारने की घटना भी शामिल है। ‘ए प्रॉमिस्ड लैंड’ को दो खंडों (वॉल्यूम) में लाने की योजना बनाई गई है। पहला वॉल्यूम मंगलवार को पूरी दुनिया में दुकानों पर उपलब्ध होने जा रहा है।

To Top