राहुल भट्ट की हत्या का बदला पूरा, सुरक्षाबलों ने पाकिस्तानी आतंकी उकासा और फैजल को मार गिराया

राहुल-भट्ट-की-हत्या-का-बदला-पूरा.webp

राहुल भट्ट की हत्या का बदला पूरा

पाकिस्तान अब जब भारत से पूरी तरह हार चुका है तो अपने आतंकियों को बेहद ही घटिया कामों पर उतार दिया है। जम्मू कश्मीर में इन दिनों आतंकी आम लोगों को निशाना बना रहे हैं। खासकर उन लोगों को जो लोग दूसरे राज्यों से हैं या फिर कश्मीरी पंडित हैं। फिल्म द कश्मीर फाइल्स के बाद कश्मीरी पंडितों पर हुए अत्याचार को लेकर आवाज उठना शुरू हुआ तो पाकिस्तान और उसके आतंकी बौखला उठे और कश्मीरी पंडितों को निशाना बनाने लगे। जिसमें राहुल भट्ट की हत्या करर दी गई। सुरक्षाबलों ने राहुल भट्ट की हत्या का बदला सिर्फ 24 घंटे में ही पूरा कर लिया। इसमें उनकी हत्या में शामिल दोनों पाकिस्तानी आतंकियों को मार गिराया है।

सेना ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा में 2 आतंकियों का एनकाउंटर किया। सेना और आतंकियों के बीच चली इस मुठभेड़ में बरार इलाके में 2 आतंकियों को ढेर किया। मारे गए दोनों आतंकी कश्मीरी पंडित राहुल भट्टी की हत्या में शामिल थे। मारे गए दोनों पाकिस्तानी आतंकवादी की पहचान फैजल उर्फ ​​सिकंदर और अबू उकासा के रूप में हुई है। इन दो में से एक आतंकी फैजल इससे पहले 10 दिसंबर 2021 और 11 फरवरी, 2022 को बांदीपोरा में गुलशन चौक और निशात पार्क में आतंकवादी हैदर के साथ 3 पुलिसकर्मियों की हत्या में शामिल था। इन आतंकियों ने अपना ठिकाना मध्य कश्मीर और दक्षिण कश्मीर में ट्रांसफर कर दिया। साथ ही ये लोग अन्य आतंकवादी गतिविधियों में भी शामिल थे।

फैसल का साथी हैदर दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के देवसर में 7 मई को एख मुठभेड़ में मारा गया था। इसके बाद फैजल बड़गाम में ट्रांसफर हो गया जहां वह उकासा से जुड़ गया था। गुरुवार को जम्मू कश्मीर के बडगाम में चादूरा के तहसीलदार ऑफिस में घुसकर आतंकियों ने राहुल भट्ट को गोली मार दी थी। घटना को अंजाम देने के बाद आतंकी फरार हो गए थे। राहुल को घायल अवस्था में श्रीनगर अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां इलाज के दौरान राहुल भट्ट ने दम तोड़ दिया था। इसकी के बाद फैजल बंदीपोरा चला गया था। इस दौरान पुलिस इन आतंकियों को लगातार ट्रैक कर रही थी और अरागाम में इनके ठिकाने का पता लगा लिया। इसके बाद शुक्रवार को 24 घंटे के भीतर एल जेकेपी और एसएफ द्वारा एक त्वरित अभियान में दोनों आतंकियों को खत्म कर दिया गया।