iPhone बनाने वाली कंपनी लॉन्च करेगी इलेक्ट्रिक कार, कई साल से प्रोजेक्ट पर चल रहा काम

iPhone-Assembly-Foxconn-To-Manufacture-Electric-Cars.webp

courtesy google

आईफोन बनाने वाली कंपनी अब इलेक्ट्रिक कारें भी बनाएगी। ताइवान की फॉक्सकॉन कंपनी एप्पल के आईफोन असेंबल करने के लिए दुनियाभर में मशहूर है और अब इस कंपनी ने इलेक्ट्रिक वाहन व्यापार में निवेश की संभावनाएं तलाश ली हैं। इंडोनेशिया की इंवेस्टमेंट मिनिस्ट्री और कई कंपनियों से साझेदारी की है, इसके अंतर्गत साउथ ईस्ट एशियाई देशों में इलेक्ट्रिक कारों को समर्थन और ज्यादा से ज्यादा बिक्री का काम किया जाएगा। फिलहाल ये कंपनी ऐप्पल के मुख्य फोन आईफोन असेंबल करती है।

फॉक्सकॉन एप्पल के आईफोन बनाने वाली कंपनी है जो पिछले कुछ सालों से इलेक्ट्रिक वाहन पर भी काम कर रही है. कंपनी ने इसके लिए यूएस के स्टार्टअप फिस्कर आईएनसी और थाईलैंड के एनर्जी ग्रुप पीटीटी पीसीएल के साथ सौदे की घोषणा कर दी है। फॉक्सकॉन ने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहन और इनकी बैटरी के उत्पादन पर निवेश की बड़ी संभावनाएं नजर आ रही हैं, इसमें फायदा पाने के लिए कंपनी ने इंडोनेशिया की मिनिस्ट्री ऑफ इंवेस्टमेंट के साथ-साथ इंडोनेशिया बैटरी कॉर्पोरेशन, एनर्जी फर्म पीटी इंडिका एनर्जी और ताईवानी इलेक्ट्रिक स्कूटर वेंडर गोगोरो के साथ मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग या कहें तो एमओयू साइन किया है।

इंडोनेशिया में नया एनर्जी ईकोसिस्टम बनाने के लिए ये कॉर्पोरेशन एनर्जी स्टोरेज सिस्टम, बैटरी एक्सचेंज स्टेशन और रिसाइकिलिंग जैसे क्षेत्रों पर भी पूरा ध्यान दिया जाएगा। एक खुले मंच पर हुई इस साझेदारी में इंडोनेशिया की कंपनियों को हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर सर्विस मुहैया कराई जाएगी। कंपनी ने इलेक्ट्रिक वाहनों के उत्पादन वाले इस प्लान पर निवेश की राशि का अब तक खुलासा नहीं किया है। कंपनी के चेयरमैन लिउ यंग-वे ने कहा कि फॉक्सकॉन का लक्ष्य है कि 2025 से 2027 के बीच दुनियाभर की ईवी में 10 प्रतिशत पुर्जे उपलब्ध कराए जाएं। उनका इशारा कार बनाने में कम उत्पादन लागत और बाकी लागत की ओर था क्योंकि असेंबली के लिए उन्हें दुनिया का सबसे बड़ा कॉन्ट्रैक्ट इलेक्ट्रॉनिक्स मेन्युफैक्चरर कहा जाता है।