7th Pay Commission: इन 33 लाख केंद्रीय कर्मचारियों की डबल होगी सैलरी, महंगाई भत्ते के साथ बढ़ाया जाएगा HRA

thirty-three-lakh-central-govt-employees.webp

courtesy google

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए मोदी सरकार तमाम खुशियां लेकर आने वाली है। करीब 33 लाख से ज्यादा कर्मचारियों को सौगात मिलने वाली है। दरअसल, महंगाई भत्ते को बढ़ाए जाने के बाद अब इन कर्मचारियों का एचआरए भी बढ़ सकता है। खबरों की मानें तो सरकार जल्द ही केंद्रीय कर्मचारियों के लिए इस तोहफे का ऐलान कर सकती है। सरकार इस भत्ते को 3 फीसदी तक बढ़ा सकती है। इस बढ़ोतरी के बाद एचआरए की दरें 10 फीसदी, 20 फीसदी और 30 फीसदी हो जाएंगी। इस तरह केंद्रीय कर्मचारियों का न्यूनतम एचआरए फिर से 10 फीसदी पर पहुंच जाएगा।

यह भी पढ़ें- लीक नहीं होगी अब कोई भी खूफिया जानकारी, मंत्रालय की बैठकों में व्हाट्सएप जैसी ऐप्स पर रोक, स्मार्टफोन बैन

अभी केंद्रीय कर्मचारियों को कैटेगरी के हिसाब से 9 फीसदी, 18 फीसदी और 27 फीसदी की दर से एचआरए मिलता है। टैक्स एंड इन्वेस्टमेंट एक्सपर्ट बलवंत जैन ने बताया कि अगर एचआरए बढ़ाने का फैसला लिया जाता है तो इससे सेंट्रल गवर्नमेंट के कर्मचारियों को फायदा होगा। इस फैसले से डिफेंस सेक्टर के कर्मचारियों पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा, क्योंकि उनके लिए वेतन से लेकर भत्तों तक की अलग व्यवस्था है। केंद्र सरकार के कई विभागों में करीब 38 लाख पद हैं, इनमें से अभी 31.1 लाख पदों पर लोग नियुक्त हैं। अत: सरकार एचआरए बढ़ाती है तो इन 31.1 लाख लोग इससे लाभान्वित होंगे।

यह भी पढ़ें- Delhi Weekend Curfew: खत्म होगा वीकेंड कर्फ्यू, दुकानों से भी हटेगा ऑड-ईवन सिस्‍टम, देखें केजरीवाल का नया प्रस्ताव!

सातवें वेतन आयोग की सिफारिश के हिसाब से एचआरए के स्लैब को 30 फीसदी, 20 फीसदी और 10 फीसदी के बजाय घटाकर 24 से 8 फीसदी के बीच किया गया था। आयोग ने कहा था कि इसे दो फेज में बढ़ाया जा सकता है। पहली बार जब महंगाई भत्ता 50 फीसदी हो जाए तब एचआरए को 1 से 3 फीसदी बढ़ाकर 9-27 फीसदी के स्लैब में किया जा सकता है। इसके बाद जब मंहगाई भत्ता 100 फीसदी हो जाए तो दूसरे फेज में एचआरए को बढ़ाया जा सकता है। हालांकि सरकार ने महंगाई की स्थिति को देखते हुए एचआरए में बदलाव के लिए डीए का स्तर 25 फीसदी और 50 फीसदी तय किया है। पिछले साल जुलाई में सरकार ने डीए को बढ़ाकर 28 फीसदी किया था। चूंकि यह 25 फीसदी से ज्यादा हो गया था तो एचआरए को भी बढ़ाया गया।