दुनिया के इतने देशों में फैला Omicron वेरिएंट- WHO ने बताया जानलेवा है या नहीं

तेजी-से-सामने-आ-रहे-Omicron-वेरिएंट-के-मामले.webp

तेजी से सामने आ रहे Omicron वेरिएंट के मामले

इस वक्त कोरोना वायरस का नया वेरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर दुनिया दहशत में है। यह नया वेरिएंट तेजी से पैर पसार रहा है, यह वेरिएंट बहुत की कम समय में कई देशों में फैल गया। इस वक्त पूरी दुनिया में इस वायरस का खैफ देखा जा सकता है। अब तक यह वेरिएंट दुनिया के 38 देशों में फैल चुका है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का कहना है कि, इस वेरिएंट के बारे में जबतक वैज्ञानिकों को पता चलता तब तक यह फैल चुका था अब इससे बचना जरूरी है क्योंकि, ये कितना घातक ये इसका अभी तक पता नहीं चल पाया है।

बता दें कि, दूसरी लहर में जहां डेल्टा वेरिएंट ने तेजी से तबाही मचाई थी तो वहीं, यह वेरिएंट उससे भी तेज निकला। डेल्टा वेरिएंट के बारे में तो पहले ही पता चल गया था। लेकिन ओमीक्रॉन के बारे में दुनिया को जबतक पता चलता तब तक यह कई देशों को अपने चपेट में ले लिया। इस वायरस को लेकर अब यह भी दावा किया जाने लगा है कि, यह वेरिएंट बाकी वेरिएंट के मुकाबले ज्यादा खतरनाक है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन अब तक 38 देशों में फैल चुका है। हालांकि नए कोविड-19 वैरिएंट ओमिक्रॉन से अब तक किसी की मौत की सूचना नहीं है। डब्ल्यूएचओ के एक प्रवक्ता ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी ने ओमिक्रॉन से संबंधित मौतों की रिपोर्ट अभी तक नहीं देखी है। उन्होंने कहा कि यह निर्धारित करने में कई सप्ताह लगेंगे कि ओमिक्रॉन कितना संक्रामक है।

इन देशों में पहुंचा नया वेरिएंट

दक्षिण अफ्रीका, बोत्सवाना, नीदरलैंड, इजरायल, हांगकांग, बेल्जियम, ऑस्ट्रेलिया, चेक गणराज्य, इटली, जर्मनी, ब्रिटेन, डेनमार्क, ऑस्ट्रिया, कनाडा, स्वीडन, स्पेन, स्विट्जरलैंड, फ्रांस, जापान, पुर्तगाल, सऊदी अरब, ब्राजील, दक्षिण कोरिया, यूएसए, नार्वे, ग्रीस, आयरलैंड, घाना, नाइजीरिया, यूएई, श्रीलंका, मलेशिया, सिंगापुर, जिम्बाब्वे, ट्यूनिशिया, मैक्सिको और भारत में ओमिक्रॉन के मामले सामने आ चुके हैं।

वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कोरोना के मामले बढ़ने की आशंका के बीच देशवासियों से बूस्टर खुराक लेने की अपील की है। उन्होंने कहा कि, कुछ अन्य देश अपनी सीमाएं बंद कर रहे हैं और लॉकडाउन फिर से लगा रहे हैं लेकिन इस बार वह कोई अतिरिक्त पाबंदी नहीं लगाएंगे। अमेरिका में अभी करीब 10 करोड़ नागरिक बूस्टर खुराक लेने के योग्य है तथा हर दिन और लोग इसके योग्य बन रहे हैं। बाइडेन ने कहा, जाइए और अभी बूस्टर खुराक लीजिए।