भारत में कब तक दौड़ेगी जापान की शान कही जाने वाली ये मशहूर बुलेट ट्रेन, फीचर्स हैं लाजवाब

bullet.webp

शिन्कानसेन E-5 बुलेट ट्रेन

इन दिनों भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जापान दौरे पर हैं। ऐसे में पीएम मोदी सोमवार को जापान की राजधानी टोक्यो पहुंचे हैं। उनके इस दौरे पर सबसे ज्यादा चर्चा बुलेट ट्रेन की हो रही है। मालूम हो, शिन्कानसेन E-5बुलेट ट्रेन साल 2027से भारत में भी गोली की रफ्तार से दौड़ने वाली है। ये ट्रेन कैसी है और इसके फीचर्स क्या है इसके बारे में आज हम आपको विस्तार से बतायेंगे। टोक्यो से योकोहामा की दूरी उतनी ही है, जितनी मुंबई से अहमदाबाद की है।

क्या हैं इस बुलेट ट्रेन के फीचर्स

जापान की शान कही जाने वाली शिन्कानसेन बुलेट ट्रेन पूरी दुनिया में मशहूर है। इसने 300किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार को पार किया था। हालांकि अब दुनिया में और भी ऐसी हाईस्पीड ट्रेन मौजूद हैं। जिस शिन्कानसेन बुलेट ट्रेन में इंडिया टीवी के रिपोर्टर ने यात्रा की, उस मॉडल का नाम N700एडवांस है। इसमें 16बोगियां होती हैं।

इस ट्रेन में ऑटोमेटिक दरवाजे हैं और अंदर काफी साफ-सफाई रहती है। यात्रियों के बैठने के लिए अच्छी और आरामदायक व्यवस्था है। एक तरफ दो सीटें हैं और दूसरी तरफ तीन सीटें हैं। यात्री सीट को अपने आराम के हिसाब से आगे-पीछे भी कर सकते हैं। यात्रियों के सामने ही एक डिस्प्ले भी आता रहता है, जिसमें यात्रियों को अपने स्टेशन के नाम वगैरह का पता चलता रहता है।

भारत में कब से दौड़ेगी ये ट्रेन

शिन्कानसेन ट्रेन 1964 से चल रही है। इस बुलेट ट्रेन को मुंबई-अहमदाबाद के बीच साल 2027 से चलाया जाएगा। इसका ट्रायल साल 2026 में हो जाएगा। इसकी रफ्तार 320 किमी/ घंटे की होगी, जो 508 किलोमीटर की दूरी 2 घंटों में पूरी कर देगी। ये बुलेट ट्रेन 3.35 मीटर चौड़ी होगी। पीएम मोदी और शिंजो आबे ने 14सितंबर 2017को इसकी आधारशिला रखी थी। ये 1.08लाख करोड़ रुपए की महत्वाकांक्षी हाई-स्पीड रेल परियोजना है और इस परियोजना के ट्रैक के लिए 3141करोड़ रुपए का करार हुआ है।