PM Modi संग अपनी दोस्ती को और मजबूत करना चाहते हैं Putin, बोले- रिकॉर्ड तेल बेचने के बाद अब रूस में खुलेगें भारतीय स्टोर्स

अब-रूस-में-खुलेगें-भारतीय-स्टोर्स-भारत.webp

अब रूस में खुलेगें भारतीय स्टोर्स भारत

भारत और रूस के बीच दोस्ती कितनी गहरी है ये बताने की जरूरत नहीं है। हर मौके पर दोनों देशों ने एक दूसरे का साथ दिया है। जब भारत को जरूरत थी को रूस उसके लिए खड़ा रहा और जब रूस को जरूरत पड़ी तो भारत ने अपनी दोस्ती निभाई। रूस ने जब से यूक्रेन पर हमला बोला है तब से पश्चिमी देश पुतिन के खिलाफ हैं और रूस पर कड़े से कड़े प्रतिबंध लगा रहे हैं। पश्चिमी देशों ने रूस संग व्यापर करना बंद कर दिया है जिसमें तेल और गैस भी शामिल है। हालांकि, इसके उलटा असर पश्चिमी देशों पर ही पड़ा है क्योंकि, इस वक्त वहां पर महंगाई अपने चरम पर है। इस बीच रूस ने भारत से सस्ता तेल खरीदने की पेशकश की। जिसपर अमेरिका ने नाराज भी हुआ लेकिन, इंडिया को इससे कोई फर्क नहीं पड़ा। अब रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने भारत समेत ब्रिक्स देशों के साथ व्यापारिक संबंध बढ़ाने पर जोर दिया है। उन्होंने कहा कि, हमने भारत को रिकॉर्ड तेल की सप्लाई की है। अब हम भारतीय चेन स्टोर्स को रूस में खोलने के लिए बातचीत कर रहे हैं।

यह भारत और रूस दोनों के लिए काफी बड़ी बात है। अगर रूस में भारत के स्टोर्स खुलते हैं तो फिर यह देश के लिए किसी बड़े मुनाफे से कम नहीं होगा और साथ ही दोनों देशों के रिश्तों में और भी ज्यादा बढ़ोतरी होगी। पुतिन ने कहा कि, रूसी बिजनेस सर्किल और ब्रिक्स देशों के बिजनेस कम्युनिटी के बीच संपर्क में तेजी आई है। यही कारण है कि रूस का व्यापार ब्रिक्स देशों के साथ तेजी से बढ़ रहा है। ब्रिक्स की बैठक में रूस, भारत, चीन, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रप्रमुख हिस्सा ले रहे हैं। इस बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। पुतिन ने कहा कि सभी समस्याओं और कठिनाइयों के बावजूद, ब्रिक्स देशों के व्यवसाय, व्यापार, वित्त और निवेश के क्षेत्रों में पारस्परिक रूप से लाभकारी संबंधों को लगातार बढ़ा रहे हैं। उन्होंने यह भी दावा किया कि कहा कि रशियन फाइनेंशियल मैसेजिंग सिस्टम ब्रिक्स देशों के बैंकों को जोड़ने के लिए खुली है। दरअसल, यूक्रेन पर हमले के कारण रूसी बैंकों को अंतरराष्ट्रीय स्विफ्ट सिस्टम से बाहर कर दिया गया है। ऐसे में रूस ने दूसरे देशों के बैंकों के साथ लेनदेन करने के लिए नए फाइनेंशियल मैसेजिंग सिस्टम को तैयार किया है।

पुतिन ने कहा कि, ब्रिक्स भागीदारों के साथ, वो इंटरनेशनल सेटलमेंट्स के लिए विश्वसनीय वैकल्पिक तंत्र विकसित कर रहे हैं। रशियन फाइनेंशियल मैसेजिंग सिस्टम ब्रिक्स देशों के बैंकों के साथ जुड़ने के लिए खुली है। रूसी एमआईआर भुगतान प्रणाली अपनी उपस्थिति का विस्तार कर रही है। हम ब्रिक्स देशों की मुद्राओं के आधार पर एख अंतरराष्ट्रीय मुद्रा बनाने की संभावनाओं पर विचार कर रहे हैं। इसके आगे पुतिन ने कहा कि, सभी समस्याओं औक कठिनाइयों के बीच भी, ब्रिक्स देशों के साथ व्यवसाय, व्यापार, वित्त और निवेश के क्षेत्रों में पारस्परिक संबंध लगातार बढ़ रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि, इस वर्ष के पहले तीन महीनों में, रूसी संघ और ब्रिक्स देशों के बीच व्यापार में 38 फीसदी की वृद्धि हुई है। दोनों पक्षों के बीच व्यापार 45 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि, रूस में भारतीय चेन स्टोर खोलने, चीनी कारों, उपकरणों और हार्डवेयर की हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए बातचीत चल रही है।

भारत के रिटेल स्टोर्स जो रूस में खुल सकते हैं

इनफिनिटी रिटेल लिमिटेड

वी-मार्ट रिटेल लिमिटेड

ट्रेंट लिमिटेड

शॉपर्स स्टॉप

आदित्य बिड़ला फैशन एंड रिटेल लिमिटेड

एवेन्यू सुपरमार्ट्स लिमिटेड

फ्यूचर रिटेल लिमिटेड

रिलायंस रिटेल लिमिटेड

भारत के फूड चेन स्टोर्स जो रूस में खुल सकते हैं

बिग बाजार

डीमार्ट

स्टार बाजार

हाइपरसिटी

रिलायंस फ्रेश

स्पार

स्पेंसर

फूड वर्ल्ड

रिलायंस स्मार्ट