Pakistan में ओमिक्रान से दहशत, अधिकांश पाकिस्तानियों ने अभी तक नहीं मिला Corona Vaccine

Pakistan-Omicron.webp

पाकिस्तान में ओमिक्रान कोरोना की दस्तक

पाकिस्तानपर के कोरोना के नए वायरस ओमिक्रान के हमले का खतरा ज्यादा है। पाकिस्तान के अधिकांश लोगों ने अभी तक कोरोना का टीका लगवाया ही नहीं है। कारण यह भी है कि पाकिस्तान सरकार अपनी अवाम को कोरोना का टीका मुहैया ही नहीं करवा सका है। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने कहा था कि उनके पास टीका खरीदने के लिए पैसा नहीं है। चीन ने पाकिस्तान को कुछ टीके दान के तौर पर दिए थे। लेकिन इन टीकों के बारे में यह अफवाह फैल गई कि इनमें सुअर की चर्बी शामिल है, इसलिए पाकिस्तानियों ने टीका नहीं लगवाया। इसके अलावा चीन का कोरोना वैक्सीन ज्यादा कारगर भी नहीं पाया गया है।

 बहरहाल, एंटी कोरोना टास्क फोर्स पाकिस्तानी  प्रमुख असद उमर ने लोगों से कोविड-19 रोधी टीका लगवाने की अपील की। उन्होंने कह कि देश में कोविड-19 के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के पहुंचने में कुछ ही दिन का समय बचा है।

असद उमर ने कहा कि दुनिया आपस में इतनी जुड़ी हुई है कि जब दुनिया में यह फैलना शुरू हो गया है तो नए वेरिएंट को रोकना असंभव है। उमर ने लोगों से कोविड -19 के ओमीक्रोन स्वरूप के खिलाफ एहतियात के तौर पर टीका लगवाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा, 'यह स्वरूप (ओमीक्रोन) पाकिस्तान में आएगा और हमारे पास इसके खतरे को कम करने के लिए 2-3 सप्ताह हैं।'

उमर ने कहा कि टीकाकरण ही खतरे को कम करने का एकमात्र तरीका है क्योंकि प्रारंभिक जानकारी से पता चलता है कि खतरनाक होने के बावजूद टीकाकरण ओमीक्रोन के खिलाफ प्रभावी होगा। मंत्री ने यह भी घोषणा की है कि अगले 2-3 दिनों में कोविड-19 के खिलाफ एक बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू किया जाएगा। उमर ने कहा, 'मेरी पाकिस्तानियों से अपील है, विशेष रूप से उनसे जिन्होंने एक खुराक ली है और जिन्हें दूसरी खुराक लेनी है क्योंकि यह एक प्रभावी चीज है जो हमें इस प्रकार के खतरे से खुद को बचाने के लिए है।'