संक्रमित मरीजों में ऐसे दिखे Omicron variant के लक्षण- देखें कितना खतरनाक है

कोरोना-के-नए-वेरिएंट-ओमिक्रोन-को-लेकर-बड़ा-खुलासा.webp

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन को लेकर बड़ा खुलासा

इस वक्त कोरोना वायरस का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन बहुत की कम समय में कई देशों में फैल गया। पूरी दुनिया इस वायरस से खैफ में है। कई देशों ने अपने यहां पर सख्त पाबंदियां लगानी शुरू कर दी है। अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को रद्द कर दिया है तो कई देशों ने लॉकडाउन लगा दिया है। ये वायरस कितना खतरनाक है या नहीं इसे लेकर अभी रिसर्च जारी है। वेज्ञानिकों का मानना है कि अगले 3से 5हफ्ते लग सकते हैं। वहीं, इस वायरस के लक्षण को लेकर दक्षिण अफ्रीका की डॉक्टर ने खुलासा किया है।

यह भी पढ़ें- जरा संभल कर! बच्चों पर कोरोना के नए वेरिएंट का बढ़ा खतरा

कोरोना वायरल की पहली लहर और दूसरी लहर ने दुनियाभर में जमकर तबाही मचाई। अभी इससे धीरे-धीरे राहत मिल रहा था कि अब कोरोना के नए वेरिएंट ने दुनिया की टेंशन बढ़ा दी है। दक्षिण अफ्रीका सहित 12देशों में पाए गए कोरोना वायरस के नए और अधिक संक्रामक स्वरूप 'ओमीक्रॉन' वेरिएंट (Omicron Variant) ने दुनिया में दहशत फैला दी है। अब पहली बार इसके लक्षण के बारे में और संक्रमित मरीजों की कैसी हालत थी इस बात का खुलासा हुआ है।

ओमीक्रोन को लेकर सबसे पहले अलर्ट करने वालीं दक्षिण अफ्रीकी डॉक्टर एंजेलिक कोएत्जी ने इस वेरिएंट से ग्रसित मरीजों की हालत को बयां किया है। उन्होंने कहा कि, कहा कि उसके दर्जनों मरीजों को नए वेरिएंट के संदेह में केवल हल्के लक्षण दिखाई दिए थे और अस्पताल में भर्ती किए बिना पूरी तरह से ठीक हो गए थे। साउथ अफ्रीकन मेडिकल एसोसिएशन की अध्यक्ष एंजेलिक कोएत्जी ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया कि उन्होंने पिछले 10दिनों में लगभग 30मरीजों को देखा है, जो कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, मगर उन सभी में कुछ अपरिचित यानी अलग तरह के लक्षण दिखे थे। उन्होंने कहा कि युवा मरीजों के लिए यह असामान्य था।

संक्रमित मरीजों में कैसा था लक्षण

इसके आगे उन्होंने बताया कि, ज्यादातर रोगियों की उम्र 40साल से कम थी और उनमें से आधे से कम लोगों को ही वैक्सीन लग चुकी थी। इसके लक्षण को लेकर उन्होंने कहा कि, जो मरीज मिले उनमें हल्की मासंपेशियों में दर्द, गले में खराश और सूखी खांसी भी थी। केवल कुछ का तापमान थोड़ अधिक था। ये बहुत ही हल्के लक्षण थे, जो कि उन वेरिएंट से काफी अलग थे, जिनके संक्रमण से शरीर में अधिर गंभीर लक्षण नजर आते हैं।

उन्हें जब 30रोगियों में से 7संदिग्ध मिले तब उन्होंने ही सबसे पहले 18नवबंर को स्वास्थ्य अधिकारियों को इसकी सूचना दी थी और इसके बारे में बताया था कि इन रोगियों में जो लक्षण मिल रहे हैं, वह डेल्टा से मेल नहीं खाते। उन्होंने कहा कि दक्षिण अफ्रीकी वैज्ञानिकों ने तब तक पहले ही नए वेरिएंट को जान लिया था, जिसे तब B.1.1.529के नाम से जाना जाता था, जिसका ऐलान उन्होंने 25नवंबर को किया था।

यह भी पढ़ें- Omicron Variant: देश में मिला ओमिक्रॉन का चौथा केस

इसके साथ ही एंजेलिक कोएत्जी ने इनसे खरनाक वेरिएंट बता देने पर ऐतराज जताते हुए कहा कि, यह दूर्भाग्यपूर्ण है कि ओमीक्रोन को मल्टिपल म्यूटेशन के साथ बेहद खतरनाक वायरस वेरिएंट बता दिया गाय। जबकि, इसकी भयावहता या फिर संक्रामकता को लेकर अबतक कोई जानकारी नहीं है।