Sidhu Moosewala की हत्या को किसने और कैसे दिया गया अंजाम, गिरफ्तार शूटरों जुबानी पढ़ें यहां पूरी कहानी

sidhu-Moosewala-2.webp

Sidhu Moosewala Murder Case पूरी कहानी!

पंजाब केसिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का खुलासा लगभग पूरा हो चुका है। मूसेवाला की हत्या में कौन-कौन लोग शामिल थे, किन हथियारों का इस्तेमाल हुआ था और हत्यारों को किसने हायर किया था यह सब खुलासा हो गया है। इसके अलावा दू शूटर और एक शेल्टर देने वाले शख्स को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस पूछताछ में हत्यारों ने क्या उगला- यह सब बताया दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी एचजीएस धालीवाल ने।  स्पेशल सीपी एचजीएस धालीवाल के मुताबिक गिरफ्तार आरोपियों में हरियाणा सोनीपत निवासी प्रियव्रत उर्फ फौजी, झज्जर निवासी कशिशऔर भटिंडा निवासी केशव कुमारहैं। ये लोग दिल्ली और पंजाब पुलिस से बचने के लिए गुजरात के मुद्रा से अरेस्ट किया गया है।

सिद्धू मूसेलवालाहत्याकांड में दो मॉड्यूल एक साथ काम कर रहे थे। इनमें से प्रियव्रत फौजी एक मॉड्यूल को लीड कर रहा था। प्रियव्रत फौजी ही कनाडा में गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के संपर्क में था। कशिश भी शूटरों में शामिल है जिसे सीसीटीवी फुटेज में भी देखा गया था। कशिश झज्जर में हए एक मर्डर केस में भी वॉन्टेड था। केशव ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद शूटर को ऑल्टो कार मुहैया करवाई थी।

इस काण्ड की सबसे खतरनाक बात तो यह है कि हत्यारो के पासअंडर बैरल ग्रेनेड लॉन्चर, 8हाई एक्सप्लोसिव ग्रेनेड भी थे। यह ग्रेनेड लॉन्चर AK-47पर भी लगाया जा सकता है। 9इलेक्ट्रॉनिक डेटोनेटर एक असॉल्ट राइफल 20राउंड कारतूस भी मिले हैं। इसके अतिरिक्त 3पिस्तौल और 36 कारतूस भी बरामद हुए हैं।'

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी धालीवाल के मुताबिक संदीप केकड़ा ने ही दोनों मॉड्यूल के शूटर्स को जानकारी, शूट आउट से पहले और शूट आउट के बाददोनों घटना गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के टच में थे। शूट आउट में शामिल एक बोलेरो कार कशिश चला हा था, इस मॉड्यूल को प्रियवत फौजी हेड कर रहा था। अंकित सिरसा और दीपक मुंडी भी उनके साथ था। इस हत्याकाण्ड में शामिल दूसरी कोरोला में जगरूप रूपा और मनप्रीत मन्नू साथ में थे।

कोरोला ने मूसेवाली की थार गाड़ी को ओवरटेक किया। उसमें सवार मनप्रीत मन्नू ने सबसे पहले मूसेवाला पर एके47से गोलियांचलाई। मूसेवाला को गोली लगी और उनकी थार गाड़ी वहीं रुक गई। इसके बाद कोरोला में बचे दो शूटर औरपीछे बोलेरो में सवार चारों शूटर ने घेरकर सिद्धू मूसेवाला पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। मूसेवाला की हत्या करने के बाद उन्होंने गोल्डी बराड़ को फोन पर जानकारी दी कि ‘काम’हो गया।इसके बाद ये लोग लगातार अपनी लोकेशन बदलते रहे आखिर में मुद्रा से इनकी गिरफ्तारी हो ही गई।