चार ग्रह एक ही राशि में गोचर कर इस दिवाली को मनाने आ रहे एकदम खास, धन की देवी मां लक्ष्मी भी रहेंगी मेहरबान

grah-char.webp

courtesy google

इस बार की दिवाली लोगों के लिए शुभ रहने वाली हैं। हिंदू पंचांग के अनुसार, दिवाली का त्योहार हर वर्ष कार्तिक महीने के कृष्ण पक्ष को अमावस्या तिथि पर मनाई जाती है। इस बार दिवाली का त्योहार 4 नवंबर को है। मान्यताओं के अनुसार, दिवाली पर माता लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा की जाती है। ताकि घर पर सुख-समृद्धि और वैभव की प्राप्ति हो सके। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इस बार लक्ष्मी-गणेश पूजन पर चार ग्रहों का शुभ संयोग बन रहा है जिसमें एक राशि में चार ग्रह गोचर करेंगे। इस संयोग के चलते शुभ योग बन रहा हैं। जिसके चलते सभी पर धन की देवी लक्ष्मी की कृपा रहेगी।

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस बार दिवाली पर चार प्रमुख ग्रहों की युति हो रही है जिसमें इस दिन तुला राशि में सूर्य, बुध, मंगल और चंद्रमा मौजूद रहेंगे। दिवाली पर चार ग्रहों की शुभ यति होने से भक्तों पर मां लक्ष्मी की विशेष कृपा बनी रहेगी। दरअसल तुला राशि में चार ग्रहों की युति से विशेष संयोग का निर्माण होगा। 

तुला राशि के स्वामी शुक्र ग्रह होते हैं और वैदिक ज्योतिषशास्त्र में शुक्र ग्रह को धन,संपदा, सुख-समृद्धि, वैभव, ऐशोआराम और लग्जरी लाइफ प्रदान करने वाले ग्रह माना गया है। सूर्य सभी ग्रहों में राजा और ऊर्जा प्रदान करने वाले ग्रह, मंगल ग्रह पराक्रम, बुध ग्रह वाणी और बुद्धि प्रदान करने वाले ग्रह है। इसके अलावा चंद्रमा मन के कारक ग्रह है। इस तरह के चार ग्रहों का तुला राशि में होना बहुत ही शुभ संयोग है।

 

दिवाली 2021 शुभ मुहूर्त:

अमावस्या तिथि प्रारंभ- 04 नवंबर 2021 को सुबह 06 बजकर 03 मिनट से

अमावस्या तिथि का समापन- 05 नवंबर की सुबह 02 बजकर 44 मिनट पर समाप्त

लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त- 04 नवंबर की शाम 06 बचकर 09 मिनट से रात 08 बजकर 20 मिनट तक।