Chanakya Niti: यदि आपकी पत्नी भी है इन गुणों से परिपूर्ण तो समझ लें आपसे ज्यादा भाग्यशाली व्यक्ति दुनिया में कोई नहीं

niti.webp

चाणक्‍य नीति

आप भी अपने जीवन में आचार्य चाणक्य की नीतियां अपनाकर जीवन में बेहतरी की ओर बढ़ सकते हैं। दिलचस्प बात  चाणक्य की नीति को अपनाकर ही चंद्रगुप्त मौर्य सम्राट बन गए थे। आचार्य चाणक्य की कई शिक्षाएं और नीतियां आज के वक्त भी प्रासंगिक हैं, उनकी शिक्षाएं सफलता पाने और एक बेहतर इंसान बनने में मदद करती हैं। कहा जाता है ऐसे व्यक्ति जो आचार्य चाणक्य की नीतियों का अनुसरण करता है, वह अपने जीवन में खूब तरक्की हासिल करता है। आचार्य चाणक्य ने नीतिशास्त्र में कुछ गुणों के बारे में बताया है जिन स्त्रियों में ये गुण होते हैं उनके पति बहुत ही भाग्यशाली होते हैं तो आइए जानते हैं इस विषय में...

1. चाणक्य नीति के अनुसार, अगर विवाह का फैसला स्त्री की सुंदरता को देखखर लिया गया है तो यह आने वाले समय में पछतावा कराता है। विवाह के लिए बाहरी खूबसूरती से ज्यादा उसके गुणों को परखना चाहिए। स्त्री को जीवनसाथी चुनते समय इन बातों का ख्याल रखना चाहिए।

2. चाणक्य कहते हैं कि विवाह हमेशा उस स्त्री से करना चाहिए जो आपसे स्वेच्छा से विवाह करना चाहती है। दवाबवश किया गया विवाह भविष्य में वैवाहिक जीवन में मुश्किलें खड़ी करता है।

3. चाणक्य के अनुसार, जो स्त्री आपकी परवाह और प्यार करती हो उसे कभी नहीं छोड़ना चाहिए। नीति शास्त्र के अनुसार, भविष्य में कितने ही उससे झगड़े क्यों न हो, लेकिन वह आपके परिवार में खुशियां लेकर आएगी। चाणक्य का मानना है जो स्त्री आपसे प्यार करती है वह आपको उदास या दुखी नहीं देख सकती है।

4. चाणक्य के अनुसार, जिस स्त्री या पुरुष से विवाह करने जा रहे हैं, उसकी धर्म-कर्म में आस्था होनी चाहिए। धर्म-कर्म इंसान को हमेशा अच्छे रास्तों पर चलने के लिए प्रेरित करते हैं।

5. चाणक्य कहते हैं स्त्री अपने भावी पति में अपने पिता को देखती है। वह चाहती है कि उसका पति उसके पिता के समान ख्याल रखे। ऐसे में आप जिस स्त्री से विवाह करने जा रहे हैं, वो भी आपके बारे में ऐसा ही सोचती है तो वह आपको भविष्य में कभी धोखा नहीं देगी।