कंगाल पाकिस्तानः खाने के लिए रोटी नहीं, लेकिन दाग रहा है बैलेस्टिक मिसाइलें, कौन दे रहा हथियारों के लिए पैसा?

पाकिस्तान-ने-किया-बैलिस्टिक-मिसाइल-का-परीक्षण.webp

पाकिस्तान ने किया बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण

पाकिस्तान की इस वक्त बेहद ही बुरे हालात है। देश की आवाम महंगाई (Pakistan Inflation) की मार झेल रही है, खाने से लगेकर कपड़े, और पेट्रोल डीजल तक महंगे हैं। यहां तक की बिजली तक पाकिस्तान में महंगी हो गई है। पाकिस्तान की आवाम की भूख को तो इमरान खान सरकार को कोई फिक्र नहीं है लेकिन हथियारों की भूख मिटाने के लिए वो किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार है। पाकिस्तान ने सतह से सतह तक मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है।

यह भी पढ़ें- America ने शुरू किए China पर अंदरूनी हमले- एक के बाद एक लगातार आठ चोटों से बौखलाया ड्रैगन

पाकिस्तान ने गुरुवार को सतह से सतह तक मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल शाहीन-1ए (Shaheen-1A surface-to-surface ballistic missile) का सफल परीक्षण किया। इससे पहले भी पाकिस्तान ने अगस्त में सतह से सतह पर वार करने वाली परमाणु संचालित बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया था।

पाकिस्तान सेना ने अपने एक बयान में कहा है कि, परीक्षण का मकसद हथियार प्रणाली के कुछ डिजाइन और तकनीकी मानकों का पुनः सत्यापन करना था। वहीं, सेना ने मिसाइल की तकनीक के बारे में कुछ नहीं किया है। इस दौरान सेना के वरिष्ठ अधिकारी, वैज्ञानिक और इंजीनियर मौजूद रहे। इस दौरान महानिदेशक सामरिक योजना प्रभाग के लेफ्टिनेंट जनरल नदीम जकी मांज, कमांडर आर्मी स्ट्रेटेजिक फोर्सेज कमांड और रणनीतिक संगठनों के वैज्ञानिक और इंजीनियर विभाग के लेफ्टिनेंट जनरल मुहम्मद अली मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- अंदर ही अंदर जल रहा है पाकिस्तान- अब-तब लगी है इमरान सरकार

इस सफल परीक्षण पर वैज्ञानिकों और इंजीनियरों को बधाई देते हुए पाक सेना ने कहा है कि, मांज ने उनके तकनीकी कौशल, समर्पण और प्रतिबद्धता की सरहाना की। राष्ट्रपति आरिफ अल्वी, प्रधानमंत्री इमरान खान और सैन्य नेतृत्व ने इस उपलब्धि पर वैज्ञानिकों और इंजीनियरों को बधाई दी। इससे पहले मार्च में, सेना ने परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम शाहीन 1-ए बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया था।