माफिया डॉन छोटा राजन का गुर्गा परवेज UP STF के साथ मुठभेड़ में ढेर, पाकिस्तानी एजेंसी ISI से भी जुड़े थे तार

Parvez_Gurga_Chhota_Rajan.JPG

छोटा राजन का गुर्गा परवेज ढेर

माफिया डॉन छोटा राजन का गुर्गा परवेज अहमद गोरखपुर में मारा गया। यूपी एसटीएफ परवेज की फिराक में काफी दिनों से थी। यूपी पुलिस से बचने के लिए परवेज नेपाल चला गया था। परवेज नेपाल में बैठकर वसूली का धंधा चला रहा था। परवेज पाकिस्तान से आने वाली नकली करंसी को नेपाल के रास्ते यूपी बिहार में सप्लाई भी करता था। छोटा राजन के पकड़े जाने के बाद परवेज खान मुबारक गैंग के लिए काम करने लगा था।, वहीं से वो आईएसआई के संपर्क में आया और पाकिस्तान से  आने वाली नकली करंसी भारत में सप्लाई करने लगा था।  परवेज को यूपी एसटीएफ ने परवेज को बीते दिन ढेर कर दिया। 

एसटीएफ को खबर मिली थी कि परवेज अहमद एक मीटिंग के सिलसिले में गोरखपुर के चिलुआताल इलाके के नकहा में पहुंचा था। कुछ शक होने पर उसने मीटिंग अचानक कैंसिल कर दी। पुलिस को चकमा देने के लिए परवेज अपने एक सहयोगी के सात बाइक से निकल पड़ा।

जैसे ही एसटीएफ को उसके नकहा पहुंचने की जानकारी मिली वैसे ही उसे पीपीगंज इलाके के सरहरी बालापार रोड पर घेराबंदी कर दी। जब परवेज को रोकने की कोशिश की गई तो उसने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। एसटीएफ की जवाबी फायरिंग में वह ढेर हो गया। हालांकि उसका साथी वहां से भागने में कामयाब हो गया। उसे पकड़ने की भी काफी कोशिश की गई। परवेज के पास से 4पिस्टल भी बरामद की गई हैं।

शार्प शूटर और अंडरवर्ल्ड डॉन का खासमखास परवेज अहमद नेपाल से गोरखपुर में नकली नोटों का कारोबार धड़ल्ले से चलाता था। पाकिस्तान से नकली नोट मंगवाकर वह उन्हें पूरे देश में सप्लाई करता था। गोरखपुर के कई अपराधी और नामचीन लगो भी इस धंधे में शामिल थे।

परवेज अहमद 2018में अंबेडकर जिले के BSP नेता जुगाराम मेहंदी की हत्या कर फरार हो गया था। जिसके बाद उस पर एक लाख रुपये का इनाम रखा गया था। उसने ये हत्या अंडरवर्ल्ड डॉन खान मुबारक के इशारे पर की थी।