ट्रैक्टर मार्च टांय-टांय फिस्स, सुप्रीम कोर्ट ने गेंद दिल्ली पुलिस के पाले में डाली

Tractor_March_Supreme_Court.jpg

सुप्रीम कोर्ट ने टैक्टर मार्च का मुद्दा दिल्ली पुलिस के किया हवाले

गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर मार्च पर अड़े के लिए अड़े आंदोलनकारियों को सुप्रीम कोर्ट से अच्छी खबर नहीं आई है। आंदोलनकारियों का कहना है कि गणतंत्र दिवस के मार्च पास्ट की तरह ही वो भी ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे। इसके लिए वो दिल्ली में घुसेंगे भी। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि दिल्ली में किसको एंट्री देनी है किसको नहीं यह पुलिस का अधिकार क्षेत्र है। सुप्रीम कोर्ट का नहीं। 
 
इससे पहले किसान संगठनों ने ट्रैक्टर मार्च को लेकर अपना पूरा प्लान जारी कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से पहले ही किसान संगठनों ने कहा कि ट्रैक्टर मार्च को भगवान भी नहीं रोक सकते हैं। 26 जनवरी को हम दिल्ली में ट्रैक्टर मार्च करेंगे।
 
दिल्ली में गणतंत्र दिवस की परेड में ट्रैक्टरों के साथ शामिल होने की घोषणा कर चुके किसानों ने अब इसकी रिहर्सल के लिए 19 जनवरी का दिन तय किया है। टीकरी बॉर्डर के धरनास्थल पर किसान गणतंत्र दिवस की रिहर्सल करेंगे। धरनास्थल पर दोपहर 3 बजे परेड की रिहर्सल की जाएगी।