Raj Kundra: 27 जुलाई तक जेल में रहेंगे राज कुंद्रा, पति की रिहाई के लिए शिल्पा शेट्टी ने लगाई कोर्ट से गुहार

raj_custody.jpg

COURTESY- GOOGLE

पोर्नोग्राफी केस में शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा को मुंबई कोर्ट ने 27 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। आपको बता दें कि मुंबई कोर्ट ने पहले उन्हें 23 जुलाई तक पुलिस हिरासत में भेजा था। अब इस पुलिस हिरासत को कोर्ट ने आगे बढ़ा दिया है। कोर्ट ने उन्हें 27 जुलाई तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया है। मुंबई पुलिस ने कोर्ट से राज कुंद्रा से पूछताछ करने के लिए कस्टडी को बढ़ाने की मांग की थी। मुंबई पुलिस ने कोर्ट में बताया कि इस मामले में अभी और जांच करना बाकी है। उनको शक है कि पॉर्नोग्राफी द्वारा कमाया गया पैसा ऑनलाइन बैटिंग के लिए इस्तेमाल किया जाता था।

मुंबई पुलिस की इस मांग को मानते हुए कोर्ट ने राज कुंद्रा की कस्टडी को 4 दिन आगे बढ़ा दिया है। आपको बता दें कि हाल ही में मुंबई पुलिस ने राज कुंद्रा के मुंबई स्थित ऑफिस समेत कई ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई को अंजाम दिया था। इस छापेमारी में पुलिस के हाथ कई आपत्तिजनक चीजें लगी। पुलिस ने ऑफिस में लगे कम्प्यूटर्स की हार्ड डिस्क को जब्त कर लिया और सर्वर को सीज कर दिया। बताया जा रहा है कि इस दौरान पुलिस को पोर्न वीडियोज भी मिले। रिपोर्ट की मानें तो इस जगह पर ही राज कुंद्रा अपने ऐप के लिए पोर्न फिल्में बनाता था।

छापेमारी के दौरान मिली ये सब चीजें राज कुंद्रा के खिलाफ केस को और भी मजबूत बना सकती है। आपको बता दें कि मुंबई पुलिस ने एक केस की कार्रवाई करते हुए मुंबई के मढ़ आइलैंड में स्थित एक बंगले पर छापा मारा था। छापेमारी में पोर्न शूट करते हुए पांच लोग रंगे हाथ पकड़े गए। इसमें एक महिला को भी पुलिस ने बचाया, जो शिकायतकर्ता बनी। महिला की शिकायत पर क्राइम ब्रांच ने जांच शुरु की। मामले की जांच करते हुए  पुलिस ने प्रोड्यूसर रोवा खान और एक्ट्रेस गहना वशिष्ठ को गिरफ्तार किया। फिलहाल गहना जमानत पर हैं।

यह भी पढ़ें- Raj Kundra के पोर्न विवादों पर Shilpa Shetty ने तोड़ी चुप्पी, इशारों-इशारों में निकाली दिल की भड़ास

मामले को लेकर गहना का कहना है कि उन्हें पुलिस ने गलत गिरफ्तार किया गया था। वो लोग अश्लील फिल्में नहीं, बल्कि कामुक फिल्में शूट कर रहे थे। पुलिस की जांच आगे बढ़ी तो 'हॉटशॉट्स' जैसी कई ऐप्स से पर्दा उठा। इन ऐप्स पर अश्लील फिल्में शूट कर अपलोड की जाती थी। इन सब में उमेश कामत का नाम सामने आया, जो लंदन की कंपनी केनरिन प्राइवेट लिमिटेड में कार्यरत था। उमेश राज कुंद्रा के साथ भी काम कर चुका था। जब उमेश से पूछताछ की गई तो उसने राज कुंद्रा का नाम उगला। यहां से इस केस ने नया मोड़ लिया।

पुलिस के बताया कि राज का नाम पहले भी आया था, लेकिन तब उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला था। जांच में पता चला कि हॉटस्पॉट्स ऐप पर मालिकाना हक केनरिन का था, लेकिन राज कुंद्रा की कंपनी 'वियान इंडस्ट्रीज' इसको चला रही थी। भारत में कानून से बचने के लिए ऐप्स पर क्लिप्स अपलोड करने के लिए केनरिन की मदद ली जाती थी। पुलिस को छापेमारी में एग्रीमेंट पेपर्स, ईमेल्स, वॉट्सऐप चैट्स और पोर्नोग्राफिक क्लिप्स मिली। जिसके बाद ही पुलिस राज कुंद्रा को गिरफ्तार किया।